सूर्य ग्रहण 2009

Solar Eclipse Surya Grahan 2009

 

सूर्य ग्रहण सूर्य ग्रहण के तीन प्रकार
सूर्य ग्रहण 2009 कहां दिखेगा पूर्ण सूर्यग्रहण
कैसे देखें सूर्यग्रहण सूर्य ग्रहण का आपकी राशि पर असर

कैसे देखें सूर्यग्रहण

आंशिक सूर्यग्रहण या आंशिक तौर पर पूर्ण सूर्यग्रहण या बादलों से ढंके  सूर्यग्रहण को बिना सही उपकरणों के देखना कभी सुरक्षित नहीं होता है। यहां तक कि सूर्य 99 फीसदी भी अगर चंद्रमा से ढंका हो तब भी नहीं। क्योंकि तब भी सूर्य का दिख रहा एक फीसदी इतना तीव्र होता है कि रेटिना को नुकसान पहुंचा सकता है।

नंगी आंखों से सूर्यग्रहण देखना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

आंशिक सूर्यग्रहण और बादल लगे होने पर भी नंगी आंखों ने देखना खतरनाक है।

सोलर रेडिएशन से रेटिना पर असर पड़ सकता है। इससे देखने की क्षमता कुछ समय के लिए या हमेशा के लिए जा सकती है।

नंगी आंखों से केवल पूर्ण सूर्यग्रहण को तब देखा जा सकता है जब चंद्रमा ने सूर्य को पूरी तरह ढंका हो।

खास तरह के फिल्टर लेंस से ही सूर्यग्रहण देखना चाहिए।

प्रोजेक्शन के जरिए भी सूर्यग्रहण देखा जा सकता है।

किसी छोटे छेद से किसी स्क्रीन पर सूर्य की इमिज बनाकर उसे देखा जा सकता है।

पानी या आइने में सूर्यग्रहण को देखना भी उतना ही खतरनाक होता है जितना कि सीधे
देखना।

 

 

 

top