सूर्य ग्रहण 2009

Solar Eclipse Surya Grahan 2009

 

सूर्य ग्रहण सूर्य ग्रहण के तीन प्रकार
सूर्य ग्रहण 2009 कहां दिखेगा पूर्ण सूर्यग्रहण
कैसे देखें सूर्यग्रहण सूर्य ग्रहण का आपकी राशि पर असर

कहां दिखेगा पूर्ण सूर्यग्रहण

भारत में गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, सिक्किम और दमन और दीव, दादरा नगर हवेली, अरुणाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में पूर्ण सूर्यग्रहण दिखेगा। पूर्ण सूर्यग्रहण देखने के लिए पटना, भोपाल, इंदौर, गया, वाराणसी, दार्जिलिंग, गंगटोक, सूरत, उज्जैन या फिर वड़ोदरा जा सकते हैं। इनके अलावा भरूच, छपरा, छतरपुर, कूचबिहार, दमन, दरभंगा, डिब्रूगढ़, इटानगर, जबलपुर, कटिहार, खंडवा, मिर्जापुर, मुजफ्फरपुर, पचमढ़ी, पूर्णियां, रीवा, सागर, सिलीगुड़ी, भावनगर, सिबसागर, सिलवासा और विदिशा में भी पूर्ण सूर्यग्रहण दिखेगा। बाकी जगह आंशिक सूर्यग्रहण सूर्यग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा। लेकिन ज्यादातर जगहों से यह आंशिक दिखाई देगा। दिल्ली, मुंबई, पुणे, हैदराबाद, बेंगलुरु, अहमदाबाद, कोलकाता और चेन्नै के लोग पूर्ण सूर्यग्रहण नहीं देख पाएंगे। यहां आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।

कब शुरू होगा सूर्यग्रहण


नासा के मुताबिक 22 जुलाई को होने वाला सूर्यग्रहण पूर्ण सूर्यग्रहण होगा। चंद्रमा की छाया सूर्य को भारत से ढंकना शुरू करेगी और यह नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, म्यांमार, चीन से गुजरते हुए पसिफिक ओशन में खत्म होगा। इसकी शुरुआत सुबह 5:30 बजे से होगी जो ज्यादातर इलाकों में 7:30 बजे तक रहेगा। पूर्ण सूर्यग्रहण 6.26 से 6.30 तक, करीब चार मिनट दिखेगा। इस दौरान सूर्य बिल्कुल भी नहीं दिखाई देगा।

सूर्यग्रहण सूर्योदय के साथ ही शुरू हो जाएगा और जितना ईस्ट की तरफ जाएंगे वहां ज्यादा साफ और ज्यादा देर तक यह दिखेगा। यानी अरुणाचल प्रदेश में यह ज्यादा साफ दिखेगा। मॉनसून का सीजन होने की वजह से उस दौरान बादल होने की संभावना भी है। लेकिन उम्मीद की जा रही है कि पटना के पास बादल कम होंगे। यह इस सेंचुरी का सबसे लंबा सूर्यग्रहण है। इसकी कुल अवधि 6 मिनट 39 सेकंड रहेगी। इसके बाद भारत में पूर्ण सूर्यग्रहण 2034 में ही दिखाई देगा, जबकि इतनी लंबी अवधि का सूर्यग्रहण 13 जून 2132 से पहले नहीं दिखाई देगा।

 

 

top