Prabhat Kumar

वैशाली के लिच्छवि गणराज्य

लेखक

प्रभात कुमार

वैशाली के लिच्छवि गणराज्य

 बिहार में स्थित प्राचीन गणराज्यों में बुद्धकालीन समय में सबसे बड़ा तथा शक्तिसशाली राज्य था । इस गणराज्य की स्थापना सूर्यवंशीय राजा इश्वा कु के पुत्र विशाल ने की थी, जो कालान्तर में ‘वैशाली’ के नाम से विख्यात हुई ।

महावग्ग जातक के अनुसार लिच्छवि वज्जिसंघ का एक धनी समृद्धशाली नगर था । यहाँ अनेक सुन्दर भवन, चैत्य तथा विहार थे ।

लिच्छवियों ने महात्मा बुद्ध के निवारण हेतु महावन में प्रसिद्ध कतागारशाला का निर्माण करवाया था ।

राजा चेतक की पुत्री चेलना का विवाह मगध नरेश बिम्बिसार से हुआ था ।

ईसा पूर्व ७वीं शती में वैशाली के लिच्छवि राजतन्त्र से गणतन्त्र में परिवर्तित हो गया ।

विशाल ने वैशाली शहर की स्थापना की । वैशालिका राजवंश का प्रथम शासक नमनेदिष्ट था, जबकि अन्तिम राजा सुति या प्रमाति था । इस राजवंश में २४ राजा हुए हैं ।

 

बिहार का इतिहास मुख्य पृष्ट पर जायें

 

top